भारतीय संविधान (Indian Constitution) के अनुसार भारत के हर नागरिक के लिए पढ़ाई का समान अधिकार है।

भारत में काफी ऐसे गरीब परिवार रहते हैं जिनकी आर्थिक स्थिति अच्छी न होने के कारण वह अपने बच्चों के लिए उच्च शिक्षा नहीं दिला पाते हैं।

इसलिए भारत सरकार (Indian government) और देश की राज्य सरकारें (state governments) तमाम योजनाएं चला रही है।

जिनका लाभ सीधे आज के युवा छात्रों को दिया जा है है। ताकि कोई भी युवा अपनी आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण पढ़ाई से वंचित न रहे है।

छात्रों के हित मे एक ऐसी योजना की शुरुआत हिमाचल प्रदेश राज्य सरकार ने की है। जिसका नाम स्वर्ण जयंती अनुशिक्षण योजना रखा गया है।

किस योजना के अंतर्गत राज्य के सरकारी स्कूल में पढ़ाई कर रहे छात्रों को मेडिकल एवं इंजीनियरिंग कॉलेज में प्रवेश लेने के लिए जेईई और नीट जैसी बड़ी परीक्षाओं के लिए मुफ्त शिक्षा कोचिंग का प्रावधान किया जाएगा।

कक्षा 9 से 12 तक पढ़ाई करने वाले सभी छात्र इस योजना का लाभ ले सकते हैं।

इस योजना को 2 चरणों में शुरू किया जाएगा पहले चरण में छात्रों को विज्ञान और गणित की मुफ्त कोचिंग प्रदान की जाएगी।

स्वर्ण जयंती अनुशिक्षण योजना 2022 से जुडी ज्यादा जानकारी के लिए नीचे क्लिक करे।