यह एक ऐसी बेहतरीन योजना है। जिसके शुरुआत हिमाचल प्रदेश से की गई है। जहां पर प्रदेश के बच्चों को किसी भी प्रकार की कमी ना रखते हुए सही शिक्षा दी जाएगी ताकि वे देश का नाम रोशन कर सकें।

स्वर्ण जयंती अनुशिक्षण योजना के माध्यम से राज्य के किसी भी सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों को मेडिकल एवं इंजीनियरिंग कॉलेज में प्रवेश के लिए सुविधा मुहै।या कराई जाएगी जिसके माध्यम से वे नीट और जेईई जैसे कोचिंग मुफ्त में प्राप्त कर सकेंगे।

इस योजना की खास बात यह है। कि इसके माध्यम से उन्हें किसी भी प्रकार का अतिरिक्त खर्च नहीं होगा और आसानी से ही अपनी शिक्षा को भी पूर्ण किया जा सकेगा।

इस बेहतरीन योजना का शुभारंभ हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथन अर्लेकर द्वारा 5 सितंबर 2024 को कर दिया गया है। जिसमें मुख्य रुप से कार्यान्वयन के लिए निर्देशक उच्चतर शिक्षा विभाग डॉ अमरजीत शर्मा द्वारा गाइडलाइन जारी कर दिया गया है।

अगर आप इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं, तो आपको इस योजना के मुख्य चरणों के बारे में जानकारी होना आवश्यक है। यह योजना मुख्य रूप से दो चरणों में होगी जिसमें प्रथम चरण में विज्ञान और गणित की कोचिंग मुफ्त में प्रदान की जाएगी साथ ही साथ इस के माध्यम से ही नीट की भी तैयारी कर की जाएगी और सिलेबस को भी ध्यान में रखा जाएगा।

ऐसे विद्यार्थी जिन्होंने 12वीं कक्षा में प्रवेश लिया है। उनका एक अलग से टेस्ट भी लिया जाएगा और उसमें चयनित छात्रों को ही कोचिंग का मौका दिया जाएगा।

अगर आप इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं, तो यह आपके लिए बहुत ही अच्छा है। लेकिन इसके लिए आपको थोड़ा इंतजार करने की आवश्यकता होगी। जल्द ही राज्य सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत आने वाले आवेदन प्रक्रिया की जानकारी दी जाएगी।

स्वर्ण जयंती अनुशिक्षण योजना के बारे में और  जानने के लिए नीचे लिंक पर क्लिक करें?