राशन कार्ड  न केवल पहचान का दस्तावेज है, बल्कि विभिन्न योजनाओं के लिए यह नागरिक की श्रेणी की पहचान भी है। जैसे सरकार बीपीएल (BPL) यानी गरीबी रेखा से नीचे जीवन  यापन करने वाले नागरिकों के लिए योजनाएं चलाती है।

ऐसे में बीपीएल राशन कार्ड से ही उनकी सत्यता सत्यापित (verify) की जाती है। लेकिन अब राशन कार्ड संबंधी नियमों में बदलाव किया जा रहा है

    राशन कार्ड क्या है?

 राशन कार्ड  सरकार की ओर से जारी किया जाने वाला एक दस्तावेज  है। इसे सार्वजनिक वितरण प्रणाली  के द्वारा नागरिकों (citizens) को जारी किया जाता है।

अपात्र को राशन कार्ड सरेंडर करना होगा

दोस्तों, सरकार ने राशन कार्ड (ration card) को लेकर जो नया नियम (new rule) बनाया गया है, उसके अनुसार अब अपात्र लाभार्थी राशन कार्ड सरेंडर (ration card surrender) करना होगा।

मुफ्त राशन योजना के लिए कौन पात्र नहीं है?

– यदि किसी व्यक्ति के पास 100 वर्ग मीटर से अधिक का प्लाट, फ्लैट अथवा मकान हो। – यदि किसी व्यक्ति के पास चार पहिया गाड़ी अथवा ट्रैक्टर हो। – यदि किसी व्यक्ति की वार्षिक आमदनी ग्रामीण क्षेत्र में 2 लाख एवं शहरी क्षेत्र में 3 लाख से अधिक हो। –

सरकार नया नियम क्यों लेकर आई है?

फर्जी तरीके से कागजात एवं राशन कार्ड बनवाकर खाद्य सुरक्षा एवं अंत्योदय योजना का लाभ लेने की शिकायतें मिलने पर सरकार नया नियम लेकर आई है।

सरेंडर न किया तो उस पर क्या कार्रवाई होगी?

यदि किसी अपात्र ने राशन कार्ड सरेंडर न किया तो उस पर कानूनी कार्रवाई होगी। इसके साथ ही उसने अब तक योजनाओं के तहत सब्सिडी के रूप में जितना लाभ लिया है, उससे वह राशि वसूली जाएगी।

राशन कार्ड के नए नियम 2024 अधिक जानकारी के लिए नीचे लिंक पर क्लिक करें?