गुजरात प्रदेश सरकार अपने प्रदेश के लोगों को कृषि करने के प्रति प्रोहत्साहित करने के लिए बहुत से योजनाओं का संचालन कर रही है। 

क्योंकि बहुत सी बार किसानों की बहुत अधिक मात्रा में फसल प्राकृतिक आपदाओं जैसे – बिन मौसम बारिश, तूफान आदि की वजह से खराब हो जाती हैं।

जिस कारण उन्हें काफी आर्थिक चोट पहुंचती है तथा बहुत से किसानों के मन में कृषि करने के प्रति नकारत्मकता आ जाती है। 

इन्हीं कारणों से बहुत से किसान कृषि करना छोड़ देते है। लेकिन यदि यही क्रम लगातार चलता रहा तो प्रदेश में खाद्य पदार्थों की तंगी हो सकती है।

इसलिए प्राकृतिक आपदाओं से ग्रासित किसानों के मन में कृषि के प्रति सकारात्मकता  लाने के लिए गुजरात सरकार द्वारा kisan Mukhyamantri Sahay Yojana 2024 की शुरुआत की है।

जिसके तहत प्राकृतिक आपदाओं के कारण अगर किसान की फसल नष्ट होती है। तो उसे सरकार द्वारा आर्थिक सहायता राशि उपलब्ध करायी जायेगी।

जिससे उन्हें आर्थिक तंगी का सामना नहीं करना पड़े। तो यदि आप भी गुजरात प्रदेश में निवास करते है और कृषि से संबंध रखते है तो ये योजना आपके लिए भी भविष्य में उपयोगी साबित हो सकती है।

यदि किसान की 33% से 60% तक फसल नष्ट होती है तो उसे 20,000 रुपये प्रति हेक्टेयर और 60% से अधिक नष्ट होती है तो 25,000 रुपये प्रति हैक्टर के हिसाब से मुआवजा उपलब्ध कराया जायेगा।

मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना से ज्यादा जानकारी के लिए नीचे क्लिक करे।