CM योगी आदित्यनाथ मोबाइल नंबर | WhatsApp नंबर | कांटेक्ट नंबर | Yogi Adityanath biography in hindi |

up cm whatsapp no for complaint , mukhyamantri yogi adityanath ka phone number , yogi adityanath ka personal mobile number , yogi adityanath ka mobile number chahiye , yogi ji helpline whatsapp number , mukhyamantri yogi adityanath ka number , yogi adityanath shikayat number , up cm mobile number |

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी को कौन नहीं जानता है | इतना बड़ा पद उन्होंने उत्तरप्रदेश राज्य में हासिल किया है | गणित पढ़ने वाला एक तेज तर्रार विधार्थी सन्यासी बन कर आज देश सेवा में लीन है | कैसे योगी जी यह तक पहुंचे आप सभी उनके जीवन के बारे में आप सभी नहीं जानते है | इसिलए आज उनके जीवन के विषय पर बात करते है |

CM योगी आदित्यनाथ मोबाइल नंबर | WhatsApp नंबर | कांटेक्ट नंबर | Yogi Adityanath biography in hindi |

योगीआदित्यनाथ जी का जीवन परिचय –

योगीआदित्यनाथ जी उत्तरप्रदेश राज्य के मुख्यमंत्री है | इनका मूल नाम अजय सिंह भिष्ठ है | इनका जन्म 5 जून 1972 में टिहरी गहड़वाल में हुआ था | इनके पिता जी का नाम आनन्द सिंह भिष्ठ है | वे फारेस्ट रेंजर थे | इनकी माता जी का नाम सावित्री देवी है | योगी जी सात बहन भाई है | ये पांचवे स्था |न की संतान है | इनसे बड़ी तीन बहन और एक भाई और इनसे छोटे दो भाई है |

योगी जी की पढ़ाई –

दसवीं तक की शिक्षा इन्होने टिहरी से ही पूर्ण की और बारहवीं की शिक्षा इन्होने श्री भरत मंदिर इंटरकॉलेज से ऋषिकेश से की जब योगी जी ग्रेजुएशन की पढ़ाई कर रहे थे | तब संन 1990 में ये अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् से जुड़े इसके बाद इन्होने गहड़वाल विश्वविद्यालय श्रीनगर से बीएससी गणित की शिक्षा पूर्ण की इनकी आगे की शिक्षा में थोड़ी दिक्क्त आयी क्युकी कोटद्वार में इनका सामान चोरी हो गया था | तो साथ ही इनके प्रमाण भी चोरी हो गए थे |

जब योगी जी गोरखपुर से विज्ञानं स्नातकोत्तर करने का प्रयास कर रहे थे | तब इनके सनत प्रमाण न होने की वजह से इनका प्रयास असफल रहा इसके बाद इन्होने पुनः ऋषिकेश जाकर वहां से विज्ञानं स्नातकोत्तर में प्रवेश लिया लेकिन राम मंदिर आंदोलन के दौरान इनका ध्यान पढ़ाई से ज़रा अन्य और बट गया था | फिर इसके बाद 1993 में गणित से एमएससी की पढ़ाई की |

योगी जी सन्यासी कैसे बने –

एमएससी की पढ़ाई के दौरान गुरु रोरखनाथ जी पर शोध करने ये गोरखपुर गए और और वहां योगी जी की मुलाक़ात महंत अवैध नाथ जी से हुई | योगी जी अवैध नाथ जी से बहुत प्रभावित हुए | फिर योगी जी महंत अवैध नाथ जी की शरण में चले गए | और उनसे दीक्षा ली संन 1994 में योगी जी पूर्ण सन्यासी बन गए | सनातन धर्म पर हो रहे प्रहार तथा हिन्दू धर्म की विकृतियों ने योगी जी को व्यथित कर दिया था | और जिहाद समस्या को बढ़ता देख योगी जी का मन विचलित हो गया था | इसिलए योगी जी ने सन्यासी बनने का फैसला लिया था | 22 वर्ष की उम्र में योगी जी सन्यास धारण कर चुके थे |

सन्यासीबनने के बाद ही योगी जी का नाम अजय सिंह भिष्ठ से योगी आदित्यनाथ भिष्ठ हुआ | इनके गुरु अवैध नाथ जी के निधन के बाद गोरखपुर के मंदिर में 12 सितम्बर 2014 को योगी जी को महंत बनाया गया | दो दिन बाद उन्हें नाथ पंथ के पारम्परिक अनुष्ठान के अनुसार मंदिर का पीठाधीशवर बनाया गया |

समाज के क्षेत्र में उपलब्धिया –

धार्मिक परवर्ती के साथ साथ योगी जी सामाजिक क्षेत्र में भी पूर्ण रूप से भागीदारी रखते थे | अपने आस पास निरंतर हो रही सामाजिक समस्याओ के निवारण के लिए योगी जी निरंतर प्रयास करते थे | वे धैर्य पूर्वक लोगो की समस्याओ का सुझाव निकलते थे | समाक कल्याण के लिए योगी जी ने बहुत कार्य किये है |

(1 ) योगी जी ने प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना तथा | केंद्रीय सड़क निधि से गोरखपुर संसदीय क्षेत्र के तिनसों (300 km ) किलोमीटर लम्बे मार्ग का निर्माण किया |

(2 ) भोजपुरी भाषा को सविधान की आठवीं अनुसूची में शामिल करने की पहल की |

(3 ) दूरदर्शन के केंद्र में स्टूडियो भवन का निर्माण कराया तथा | आपकिलिंग सुविधा की स्वीकृति की |

(4 ) गोरखपुर और गोंडा में लूप लाइन आमान परिवर्तन कार्य कराये  |

(5 ) गरीब बच्चो की शिक्षा के लिए कई जगह हिन्दू विद्या पीठ का निर्माण कराया गया |

(6 ) 2009 से 2013 में पांच वर्षो के अंतरगर्त 50 स्वास्थ्य कैंप 50 क्त्रीम अंग उपकरण कैंप लगाए गए |

(7 ) गोरखपुर महानगर को पेयजल की सो करोड़ रूपये की परियोजना शहरी विकास मंत्रालय की और से स्वीकृति दिलाई |

(8 ) विधुतीकरण योजना के अंतरगर्त तिनसों गा |वो तक बिजली पहुंचने का कार्य किया |

(9 ) शहिद शंकर शुक्ल , शहीद शिव सिंह , शहीद बाबू बंधु सिंह , शहीद मजेर उदय सिंह जी का स्मारक तथा | मूर्ति निर्माण कराया |

(10 ) जिन हाई स्कूल तथा इंटरमीडिएट स्कूल के भवन में टूट फुट तथा भवन नहीं थे | उनके भवन निर्माण कराये |

(11 ) महिला शिक्षा उत्थान के लिए महाराणा प्रताप महा विद्यालय सीनियर सेकंडरी स्कूल की स्थापना की
(12) सरकार किसी भी परिवार की दो बेटियों की शादी का खर्च देगी इसके लिए योगी जी ने शादी अनुदान योजना शुरू की है | जिसमे कन्याओ को 55,000 तक मिलेगा |

(13 ) गरीबी रेखा से निचे वाले परिवारों के लिए मुफ्त में बिजली कनेक्शन की सुविधा दी गयी |

(14 ) किसानो के 30 ,729 करोड़ के कर को माफ़ कराया गया |

(15 ) 25 ,000 तक बेरोजगा |र युवाओ को रोजगा |र दिया तथा | २१% आरक्षण अनुसूचित जाती के लिए दिया |

राजनितिक क्षेत्र में उपलब्धिया –

योगी जी ने भाजपा की और से प्रत्याशी बन चुनाव लड़े | और हर बार सफलता प्राप्त की और आज उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री है | योगी जी ने राजनितिक क्षेत्र के कारण कई देशो की यात्रा भी की जैसे – अमेरिका , मलेशिया , सिंगापूर , थाइलैंड , नेपाल , कम्बोडिया योगी जी सन 1998 में ग्रह मंत्रालय , खाद्य उद्योग व् वितरण मंत्रालय में सदस्य रहे फिर सन 1999 से 2004 तक गौ सेवा आयोग उत्तरप्रदेश , पशु कल्याण बोर्ड नयी दिल्ली में भी सदस्य रहे |

सन 2004 से 2009 काशी हिन्दू विश्वविद्यालय कोर्ट और अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय कोर्ट में सदस्य रहे सन 2009 से 2014 तक पर्यटन एवं संस्कृति मंत्रालय , सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय , ग्रह मंत्रालय ( भारत सरकार ) में सदस्य रहे इसके बाद 2014 में ग्रह मंत्रालय की सलाहकार समिति में सदस्य , संयुक्त सदस्य समिति  भत्ते एवं पेशन समिति के सभापति रहे |

राजनितिक अन्य विपक्षी दल योगी जी के खिलाफ टिप्पणी करने में लगे रहते है | राजनितिक क्षेत्र में भी योगी जी ने बहुत उपलब्धिया हासिल की है |

अन्य संघर्ष –

सन 2008 में योगी जी पर आजमगढ़ में जानलेवा हमला हुआ था | जिसमे उनकी जान बचते बचते बची है | यह हमला बहुत घटक साबित हुआ था | इसमें सो से भी अधिक लोग लहुलहान हो गए थे | गोरखपुर में दंगे होने के दौरान भी योगी जी को गिरफ्तार कर लिया गया था | मोहर्रम के समय एक हिन्दू युवा की जान चली गयी थी तब शहर में कर्फ्यू लग गया था | योगी जी ने उस जगह जाने की जिद की और कर्फ्यू हटाने की मांग की | अगले दिन उनहोंने शहर में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन करने की घोषणा कर दी | लेकिन जिला अधिकारी ने इसकी अनुमति नहीं दी | और उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया | और योगी जी को जेल भेज दिया गया |

लोगो ने उनकी गिरफ्तारी के बाद आवेश में आकर मुंबई – गोरखपुर गोदान एक्सप्रेस के कुछ डब्बो में आग लगा | दी जिसका इलज़ाम उनकी हिन्दू युवा वाहिनी सभा पर लगा | जिस अधिकारी ने उन्हें गिरफ्तार किया उसका अगले ही दिन तबादला कर दिया था | योगी जी के दबाव के कारण ही मुलायम सिंह की उत्तर प्रदेश सरकार को यह कदम उठाना पड़ा

कटटर हिन्दू वादी –

योगी की बहुत धार्मिक प्रवृति के है | वो धर्मांतरण के खिलाफ होने की वजह से शुरू से ही चर्चा में रहते है | सन 2005 में योगी जी ने 1800 ईसाइयो का शुद्धिकरण कर उन्हें फिर से हिन्दू बनाया था | यह कार्य योगी जी ने उत्तर प्रदेश के एटा जिले में किया था | 9 जून 2015 में योगी जी में उन लोगो को लाइन पर लिया जो योग नहीं करते थे | या फिर योग में सूर्य नमस्कार नहीं करते थे | उनहोंने कहा की अगर लोग सूर्य में भी हिन्दू मुस्लिम ढूंढ रहे है | तो उन्हें डूब मर जाना चाहिए |

मुख्यमंत्री बनने तक का सफर –

योगी आदित्यनाथ जी का शुरुआत से ही भारतीय जनता पार्टी में एक अच्छा प्रभाव रहा है | इनके गुरु अवैध नाथ जी का भी भारतीय जनता पार्टी से सम्बन्ध रहा है | उन्होंने 1991 में तथा | 1996 में भारतीय जनता पार्टी से प्रत्याशी बन लोकसभा चुनाव जीते थे | इसी कारण यह भी कहा जा सकता है | की योगी जी का बीजेपी से पुराण रिश्ता है |

सन 1998 में योगी जी को बारहवीं लोक सभा के लिए पहली बार गोरखपुर संसदीय क्षेत्र से निर्वाचित किया गया सन 1999 में तेरहवी लोक सभा के लिए दूसरी बार गोरखपुर संसदीय क्षेत्र से निर्वाचित किया गया | 2004 में चौदवी लोकसभा और 2009 में पन्द्रवीं लोक सभा 2014 में सोलवी लोकसभा के लिए निर्वाचित किया गया जब योगी जी में पहली बार भाजपा प्रत्याशी बन चुनाव लड़े थे | तब इनकी उम्र केवल 26 वर्ष थी संन 2002 में योगी जी ने हिन्दू युवा वाहिनी का निर्माण किया | 19 मार्च 2017 में उत्तर प्रदेश के बीजेपी विधायक दल द्वारा नेता चुनकर आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री पद हेतु चुना गया |  इस दिन उनहोंने शपथ ली थी योगी जी के साथ दो उपमुख्यमंत्री भी बनाये गए थे |

सबसे अधिक वोट पाकर योगी जी को मुख्यमंत्री पद प्राप्ति हुई थी | शपथ समारोह कार्यक्रम लखनऊ के काशीराम स्मृति उपवन में हुआ था | उत्तरप्रदेश में पहली बार राजनितिक इतिहास में दो उपमुख्यमंत्री बने है | जब योगी जी के मुख्यमंत्री पद के चुनाव होने वाले थे | तब उनके लोगो ने उनके लिए हवन पूजन किया था | जबकि जब योगी जी ने शपथ ली थी तब उन्होने कहा था कि वे सबके साथ मिलकर विकास करेंगे | धर्म वाद की कोई बात उन्होंने नहीं कही थी |

Yogi Adityanath Se Sampark Kaise Kare –

यदि आप किसी कारणवश उत्तर प्रदेश मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ जी सम्पर्क करना चाहते हैं , तो आप नीचे दिए फोन नंबर , फैक्स नंबर , निवास पता और कार्यालय के पता से सम्पर्क कर सकतें हैं –

गोरखपुर
पता – श्री गोरखनाथ मन्दिर, गोरखपुर (उत्तर प्रदेश) 273015
फोन – (0551) 2255453, 2255454
फैक्स – (0551) 2255455

दिल्ली
19 गुरुद्वारा रकाबगंज रोड नई दिल्ली 110011
फोन – (011) 23092633
E-mail – yogiadityanath72@gmail.com

संपर्क के अन्य नंबर

मुख्यमंत्री आवास : 0522 – 2236838, 2235599, 2236985
फैक्स : 2239573
शास्त्री भवन: 2236167, 2236119, 2239296
फैक्स : 2239934
विधान भवन : 2628759, 2616800, 221307
लोक भवन : 2236181, 2236841, 2236842, 2236843
फैक्स : 2236846

Yogi Adityanath Se Online Samprk kaise kare-

आप नीचे दी गई डिटेल्स से योगी आदित्यनाथ जी से ऑनलाइन सम्पर्क भी कर सकतें हैं –

Yogi Adityanath Official Website : www.yogiadityanath.in

email address : yogiadityanath72@gmail.com / contact@yogiadityanath.in

office email address : upinformation@nic.in

UP CM Yogi Adityanath Social And Media Account –

Yogi adityanath Facebook Id : https://www.facebook.com/YogiAdityanath

Yogi adityanath Twitter Id : twitter.com/yogi_adityanath

Yogi adityanath Linkedin Id : https://in.linkedin.com/in/yogi-adityanath-40a28a25

Yogi adityanath Instagram Id : www.instagram.com/yogiadityanath

दोस्तों आप सभी जानते है कि पूर्वी उत्तर प्रदेश में तो योगी जी के नाम का डंका बजता है | योगी जी ने भी अपने जीवन में बहुत संगर्ष किये और राजनितिक कार्य में बढ़ चढ़ कर हिस्से लिए है | योगी जी के जीवन के कार्य तथा | उनके परिचय हमने आपको इस आर्टिकल में सरल भाषा में दिया है | उम्मीद है कि आपको आर्टिकल पसंद आये और कमेंट करके बताइयेगा | कि आपको आर्टिकल कैसा लगा || धन्यवाद ||

2 thoughts on “CM योगी आदित्यनाथ मोबाइल नंबर | WhatsApp नंबर | कांटेक्ट नंबर | Yogi Adityanath biography in hindi |”

  1. Sir
    Dandwat pranam
    Sir Mai B. A. padha hoon aur berojgar hoon naukri nahi mili ab mai delhi me majduri karta hun bahut sharm aati hai. Ki apni aur pariwar ki jarurat nahi pura kar pata. Fir man karta hai ki galat raste par jau daku banu. Sir bahut pareshan hoon.
    Please help me
    Name rameshvar pal
    Address kasarawan gauriganj amethi U. P.

    Reply

Leave a Comment